जीपीएस क्या होता है

जीपीएस क्या होता है | what is gps in hindi

जीपीएस क्या होता
जीपीएस क्या होता है 


जिस तरह internet की जरूरत हमारे रोज की दिनचर्या में पड़ती है उसी तरह जीपीएस का भी रोज की दिनचर्या में में जरूरत पड़ती है आज हम बात करने वाले है कि जीपीएस क्या होता है और साथ ही आप इस पोस्ट में जीपीएस कैसा होता है या फिर जीपीएस का प्रयोग कहा कैसे किया जाता है इस पोस्ट में आप ये सब जानेंगे जीपीएस क्या होता है ये जानना और भी जरूरी है क्योंकि हम रोज जीपीएस का प्रयोग करते है सभी लोग जीपीएस का प्रयोग तो करते है लेकिन जीपीएस का सही प्रयोग और उसकी कार्य प्रणाली के बारे में नही जानते साथ ही आपको इस पोस्ट में यह जानने को मिलेगा की गूगल मैप में जीपीएस कैसे काम करता है हिंदी में यह कैसे आपकी लोकेशन का पता लगा लेता है इन सभी बातों को जानने के लिए आज की पोस्ट gps kya hota hai  पढ़े ।

🔍Table Of Contents

जीपीएस यूनाइटेड state का एक satelite प्रोजेक्ट है जो दुनिया मे जीपीएस के प्रयोग करता को उसकी पोसिटीन नेविगेशन और टाइम को जानने में मदत करता है . जीपीएस सिस्टम नासा द्वारा बनाया गया U.S का प्रोजेक्ट है यह दुनिया के सभी जीपीएस प्रयोगकर्ता को निःशुक सेवा प्रदान करता है ।

हमारे मोबाइल में लगा जीपीएस सिस्टम जीपीएस sattelite को सिंग्नल को देने और लेने का काम करता है जिसकी मदत से वह हमारे मोबाइल में लगे जीपीएस रिसीवर से हमारे डेटा पोजीशन को रिसीव करता है जीपीएस हमारे पोजीशन को जानने के लिए जीपीएस हमारे position को longitude और latitude में sattelite को सिंग्नल भेजता है ।

जिसकी मदत से हमारी सही पोजिशन और टाइम का पता लगाया जाता है जीपीएस का मुख्य रूप से प्रयोग हमारी position और टाइमिंग को जानने के लिए ही किया जाता है ।

यदि आप जीपीएस का मतलब क्या होता है इसे एक शब्द में समझे तो जीपीएस का काम दुनिया में किसी अस्थान का सही position और टाइम का पता लगाना होता है ।

हमारी टेक्नोलॉजी इतनी तेजी से आगे बढ़ रही है जिसकी वजह से हम जीपीएस सिस्टम का प्रयोग के तरह से करने लगे है ।



Gps kaisa hota hai 





हामरे मन मे यह सवाल जरूर आता होगा कि मोबाइल में लगा जीपीएस कैसा होता है जैसे कि हमने आपको पहले बताया है कि मोबाइल में जीपीएस एक सेंसर की तरह काम करता है जिसका काम होता है gps sattelite से संपर्क बनांना जिस तरह हमे tv सिंग्नल को रिसीव करने के लिए एक dish एंटेना की जर्रोरत होता है उसी तरह जीपीएस के डेटा को जीपीएस satelite तक भेजने के लिए हामरे मोबाइल या और सभी इलेक्ट्रॉनिक बस्तुये जिनमे जीपीएस दिया रहता है यह एक रिसीवर का काम करता है साथ ही हमे देता भी प्रदान करता है ।


जीपीएस का फुल फॉर्म क्या होता है 


जीपीएस का फुल फॉर्म अथवा full name Global Positioning System सिस्टम है ।

जीपीएस का फुल फॉर्म हिंदी में समझे तो जीपीएस को हिंदी में वैश्विक स्थिति प्रणाली कहते है जिसका मतलब विश्व की स्थिति को समझने वाला होता है ।

जीपीएस क्या कैसे काम करता है 

जब हम मोबाइल में दिए गए जीपीएस sytem को एक्टिवेट करते है तो वह तुरंत ही sattelite से अपना संपर्क बना लेता है जिसके बाद sattelite जीपीएस को उसकी position का डेटा देता है यह डेटा longitude और latitude में दिया जाता है जो एक किसी जगह के addres के समान होता है लेकिन इस address को जीपीएस सिस्टम ही समझ सकता है।

जीपीएस का प्रयोग गूगल मैप में किया जाता है इसे डिजिटल मैप भी कह सकते है चलिये अब जानते है कि गूगल मैप में जीपीएस किस तरह काम करता है ।

जैसा कि आप अब तक तो समझ ही गये होंगे कि जीपीएस का मुख्य काम address और टाइम का सटीक पता लगाने के लिए ही किया जाता है इसी का फायदा उठाते हुए गूगल ने गूगल मैप को बनाया जो सभी प्रयोग करता को निःशुल्क यह सेवा प्रदान करता है ।

सबसे पहले जीपीएस को गूगल ने अपने सिस्टम सॉफ्टवेयर की मदत से satelite और जीपीएस को मैप में व्यू लाने के लिए कनेक्ट किया जो पहले सिर्फ आपकी पोसिटीन टाइम को पता लगाने में ही किया जाता था लेकिन जल्द ही गूगल ने अपने इस मैप को और विकशित
किया जिसकी मदत से आज हम ट्रैफिक और किसी और दूसरी जगह की दूरी को मापने में भी इस्तेमाल करने लगा 

बहुत लोगो के मन मे यह सवाल जरूर उठता होगा कि गूगल मैप या जीपीएस ट्रैफिक का अंदाजा कैसे लगा लेता है इसे समझने के लिए आपको थोड़ा और ध्यान केंद्रित करना होगा चलिये समझते है ।

जब आप कही रहते में होते है और साथ ही अपना जीपीएस भी न रखते है आपकी तरह ही और भी उसी रास्ते या उसी जगह जीपीएस का इस्तेमाल कर रहे होते है जिसकी मदत से गूगल मैप यह पता लगा लेता है कि इस जगह कितने लोग है जो जीपीएस का प्रयोग कर रहे होते है जिस अस्थान पर ज्यादा लोग जीपीएस या गूगल मैप का प्रयोग कर रहे होते है तो उस अस्थान पर मैप में आपको कम या ज्यादा ट्रैफीक दिखाता है अब तो आप समझ ही गये होंगे कि जीपीएस काम कैसे करता है ।

जीपीएस sattelite हामरे पूरी धरती के चक्कर लगा कर धरती पर होने वाले बदलावों को फ़ोटो के रूप में हमे दिखाता है यह हर समय इसे Update भी करता रहता है जिसकी वजह से यह हमें बेहतर और बेहतर अनुभव देता है ।

जीपीएस का प्रयोग जीपीएस के विकास के बाद से ही सभी देशों के प्रयोग के लिए खोल दिया गया लेकिन इसका मालिकाना हक यूनाइटेड स्टेट को ही है ।


 Gps का प्रयोग कैसे करें 

अभी तक आपको जीपीएस के बारे में पूरी जानकारी हो गई होगी को जीपीएस क्या होता है और कैसे काम करता है अब बात कर लेते है कि जीपीएस का प्रयोग हम कैसे और कहा करते है ।

सबसे पहले जीपीएस का प्रयोग us मिल्ट्री द्वारा किया गया था लेकिन इसका प्रयोग पूरी दुनिया के लिए 1980 में आम लोगो के इस्तेमाल के लिए उपलब्ध कर दिया गया ।
ऐसा सायद इसलिए किया गया होगा क्योंकि वह अपने sattelite में सभी देशों के डेटा को सेव करना चाहते थे जब तक इसे पूरी दुनिया के लिए नही खोला जाता तब तक वह स्मार्ट नही हो सकता था जिसके बाद आप सभी देख पा रहे है कि जीपीएस कितना बिकसित हुआ ये हमारे मोबाइल , लैपटॉप , गाड़ियों , कही भी इसका प्रयोग किया जाने लगा जिसकी मदत से हमारी काफी मुश्किल आसान भी हुई ।

इशे भी पढ़े ,








निष्कर्ष : 

आज की पोस्ट में आपने काफी जानकारी हो गई होगी कि जीपीएस क्या होता है और जीपीएस कैसा होता है और साथ ही आपने यह भी जाना कि जीपीएस काम कैसे करता है यदि जीपीएस न होता तो तो सायद हम मौसम , समय , अस्थान का पता नही लगा पाते जॉइसे कि आपको पता ही है जब हमे कही जाना होता है तो तुरंत अपना मोबाइल निकाल कर उस जगह को सर्च करलेते है लगभग आपको सारी जानकारी घर बैठे ही मोबाइल से मिल जाती है और आप असांनी से उस जगह पहुच जाते है साथ ही अगर हसमे किसी के मोबाइल की लोकेशन भी जानना होता है तो उसे भी असांनी से जान सकते .

मुझे आशा है कि जीपीएस क्या होता है यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी हमारी वेबसाइट technic radar में आने के लिए आपका धन्यवाद । 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ