server kya hota hai | what is web server in hindi ?

 सर्वर क्या होता है Server कितने प्रकार के होते है 

Internet सर्वर


सर्वर क्या है सर्वर कितने प्रकार का होते है और सर्वर डाउन क्यों होते है ये सारे सवाल आपके मन में जरूर आता होगा और आये भी क्यों ना क्यों की इन्टरनेट ने हमारे जीवन का एक बहुत बड़ा हिस्सा बन चूका है इसके बिना आज हमारे कोई भी कार्य नहीं हो सकते है अक्सर आपने यह भी देखा होगा जब आप कभी बैंक मे या फिर कोई वेबसाइट आप चला रहे है और वह ठीक तरह से वह काम नहीं करती है तब हम कहते है सर्वर डाउन हो गया है .


इसलिए हमारे मन में ये सवाल आता है की सर्वर डाउन क्यों होता है इसलिए आज हम आपको सर्वर से जुडी सारी जानकारी आज इस पोस्ट के माध्यम से देने जा रहे है चलिए जानते है सर्वर क्या हैं 


Web सर्वर क्या होता है ? 

Web सर्वर एक कंप्यूटर प्रोग्रामिंग सिस्टम है जिसे softawreऔर hardware मिल कर एक server का निर्माण करते है ये सभी webserver से जुड़ कर आपस में इन्टरनेट के माध्यम से डाटा का आदान प्रदान करते है जिन्हें हम web server कहते है और जिसे इन्टरनेट के प्रोयोग को सुचारू रूप से चलने के लिए बनाया गया है सर्वर कई प्रकार के होते है जिस प्रकार हर कार्य के लिए अलग ऑफिस बनाये जाते है ऐसे ही सर्वर भी कई प्रकार के होते है इसके बारे में हम आपको आगे इस पोस्ट में विस्तार से बात करते है 

चलिए इसे आसान भाषा में समझते है Server क्या होता है 

जैसा की आपके पास एक कंप्यूटर है और उसमे बहुत सारे डाटा जैसे विडियो म्यूजिक और ऐसी ही बहुत सारी फाइल होते है यदि आप उस फाइल को उस Computer से दूसरे कंप्यूटर में कोई भी डाटा लेना चाहते है है तब आप उसे किसी डाटा ट्रान्सफर केबल की मदत से डाटा दूसरे कंप्यूटर में लेते है या फिर एक external मेमोरी लगा कर उसमे डाटा को लेते है फिर उस मेमोरी को लगा कर दूसरे Computer में लेते है .

यदि हमारे पास डाटा केबल न हो और external मेमोरी भी न हो और वह Computer भी हमसे बहुत दूर है जिससे हमें डाटा को लेना है ऐसे में हमें जरूरत होती है सर्वर की सर्वर ही हमें उस कंप्यूटर से इन्टरनेट के माध्यम से उस डाटा को लेने या देने में मदत करता है सर्वर उस डाटा को इन्टरनेट से जोड़ता है तब हम उसे देख पाते है अब तो आप समझ ही गए होंगे की सर्वर क्या होता है .


web सर्वर क्या है चलिए इसी आशान भाषा में समझते है 

web Server एक ऐसा प्रोग्राम है जो सॉफ्टवेर और हार्डवेयर की मदत से किसी मेमोरी में रखे डाटा को ऑनलाइन इन्टरनेट के माध्यम से अपने यूजर तक उस डाटा को पहुचाता है .


Web server कैसे काम करता है ?

सर्वर क्या होता है यह समझने के बाद यह भी समझना जरूरी है कि सर्वर कैसे काम करता है जैसा की हमें  इन्टरनेट का उपयोग करने के लिए हमें एक कंप्यूटर की जरूरत पड़ती है और उस कंप्यूटर में Internet कनेक्शन के साथ एक वेब ब्राउज़र की जरूरत होती है

 जब भी हम कोई भी चीज ब्राउज़र में सर्च करते है तो वह प्राइमरी सर्वर गूगल से या अन्य कोई भी सर्च इंजन से डेटा को प्राप्त करता है ।

यदि आप उसके बाद किसी वेबसाइट को ओपन करते है तब वह सर्वर उस वेबसाइट की होस्टिंग (उस वेबसाइट का डेटा जिस स्थान पर सेव रहता है ) के साथ अपना कनेक्शन बनाता है तब उस वेबसाइट का डेटा आपके ब्राउज़र में आता है ।

किसी भी वेबसाइट का डेटा ब्राउज़र तक आने में ब्राउज़र को कई चरणों से गुजरना होता है तब जाकर आपके पास उस वेबसाइट का डेटा आपके पास आता है .

प्रतेक वेबसाइट का एक अपना एड्रेस होता है जिसे हम ip addrers के नाम से जानते है ip एड्रेस के माध्यम से हम किसी वेबसाइट तक पहुचते है यह डोमेन नाम से जुड़ा होता है लेकिन यह हमें देखने में कुछ इस तरह से दिखाई देता है www.technincradar.com यह एक वेबसाइट का एड्रेस है यह भाग उस वेबसाइट का एड्रेस है जो की एक ip एड्रेस से जुड़ा होता है एक ip एड्रेस नकुच नुम्ब्रो का समूह होता है वे कुछ तरह होते है .

जैसे = 180.230.120.106 ip एड्रेस उस वेबसाइट का एड्रेस होता है यह हमें इसलिए नहीं दिखाई देता क्यों की हम किसी नंबर को उतनी आसानी से याद और समझ नहीं सकते की वह कौन सी वेबसाइट है और किसकी है और यदि वह technicradar इस तरह से दिखती है तो तुरंत ही ही जान सकते है और याद करने में आसानी होती है .

लेकिन जब हम किसी कंप्यूटर में ये नाम डालते है web ब्राउज़र तुरंत ही समझ जाता है की इस वेबसाइट की ip एड्रेस क्या है और वह उस सर्वर से तुरंत ही सम्पर्क बनाकर आपको उस वेबसाइट पर ले जाता है .

अब तो आप समझ ही गए होंगे की Server कैसे काम करता है सर्वर क्या होता है चलिए जानते है सर्वर कितने प्रकार के होते है .



सर्वर कितने प्रकार के होते है Types of web server in hindi ?


Server कई प्रकार के होते है और इनके कार्य भी अलग अलग होते है बहुत से ऐसे भी नेटवर्क है जो एक या एक से अधिक सामान्य सर्वर को को चलाते है चलिए सर्वर के अलग अलग प्रकार को जानते है ।


1 Application server

एप्लिकेशन सर्वर स्थानीय रूप से एप्लिकेशन चलाने वाले क्लाइंट कंप्यूटर के स्थान पर एप्लिकेशन चलाते हैं। एप्लिकेशन सर्वर अक्सर संसाधन-गहन एप्लिकेशन चलाते हैं जो बड़ी संख्या में उपयोगकर्ताओं द्वारा साझा किए जाते हैं। ऐसा करने से प्रत्येक क्लाइंट के पास एप्लिकेशन चलाने के लिए पर्याप्त संसाधन होने की आवश्यकता समाप्त हो जाती है। 

2. DNS servers (domain Name server)


डोमेन नेम सिस्टम (डीएनएस) सर्वर एप्लिकेशन सर्वर होते हैं जो क्लाइंट कंप्यूटरों को आसानी से समझ में आने वाले नामों को मशीन-पठनीय आईपी Address में परिवर्तित करके नाम समाधान प्रदान करते हैं। DNS सिस्टम नामों और अन्य DNS सर्वरों का व्यापक रूप से वितरित डेटाबेस है जिनमें से प्रत्येक का उपयोग किसी अन्य अज्ञात कंप्यूटर नाम का अनुरोध करने के लिए किया जा सकता है। 

जब किसी क्लाइंट को किसी सिस्टम के पते की आवश्यकता होती है, तो वह एक DNS सर्वर को वांछित संसाधन के नाम के साथ एक DNS अनुरोध भेजता है। DNS सर्वर अपने नामों की तालिका से आवश्यक IP पते के साथ प्रतिक्रिया करता है।

3 Webserver वेवसाइट सर्वर

आज के genration में सबसे अधिक प्रयोग किये जाने वाले सर्वरो में से एक वेब सर्वर है। एक वेब सर्वर एक विशेष प्रकार का एप्लिकेशन सर्वर है जो इंटरनेट या इंट्रानेट पर उपयोगकर्ताओं द्वारा अनुरोधित प्रोग्राम और डेटा को होस्ट करता है। वेब सर्वर वेब पेजों, या अन्य वेब-आधारित सेवाओं के लिए क्लाइंट कंप्यूटरों पर चलने वाले ब्राउज़रों के अनुरोधों का जवाब देते हैं। सामान्य वेब सर्वर में Apache वेब सर्वर, Microsoft इंटरनेट सूचना सेवा (IIS) सर्वर और Nginx सर्वर शामिल हैं।
 

4. Database servers क्या है ?

कंपनियों उपयोगकर्ताओं और अन्य सेवाओं द्वारा उपयोग किए जाने वाले डेटा की मात्रा चौंका देने वाली है। उस डेटा का अधिकांश भाग डेटाबेस में एकट्ठा होता है। डेटाबेस को किसी भी समय कई उपयोग कर्ताओ के लिए आसान होना चाहिए और डिस्क स्पेस की अधिक मात्रा की आवश्यकता हो सकती है। इन दोनों जरूरतों को सर्वर पर ऐसे डेटाबेस का पता लगाने के लिए अच्छी तरह से उधार दिया जाता है।

डेटाबेस सर्वर डेटाबेस एप्लिकेशन चलाते हैं और क्लाइंट्स के कई अनुरोधों का जवाब देते हैं। सामान्य डेटाबेस सर्वर अनुप्रयोगों में Oracle, Microsoft SQL Server, DB2 और Informix शामिल हैं।

5. Virtual  सर्वर

वर्चुअल सर्वर " सर्वर की दुनिया में तूफान ला रहे हैं। मशीन हार्डवेयर पर ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में स्थापित पारंपरिक सर्वरों के विपरीत, वर्चुअल सर्वर केवल हाइपरवाइजर नामक विशेष सॉफ्टवेयर के साथ ही काम करते है । प्रत्येक हाइपरवाइजर एक साथ सैकड़ों या हजारों वर्चुअल सर्वर को चला सकता है। हाइपरविजर वर्चुअल हार्डवेयर को सर्वर के सामने ऐसे प्रस्तुत करता है जैसे कि वह वास्तविक भौतिक हार्डवेयर हो जैसे कि हम उसे देख और महसूस कर सकते है ।

6.  Proxy सर्वर

एक प्रॉक्सी सर्वर क्लाइंट और सर्वर के बीच मध्यस्थ के रूप में कार्य करता है। अक्सर सुरक्षा उद्देश्यों के लिए क्लाइंट या सर्वर को अलग करने के लिए उपयोग किया जाता है, एक प्रॉक्सी सर्वर क्लाइंट से अनुरोध लेता है। क्लाइंट को जवाब देने के बजाय, यह किसी अन्य सर्वर या प्रक्रिया को अनुरोध भेजता है। प्रॉक्सी सर्वर दूसरे सर्वर से प्रतिक्रिया प्राप्त करता है और फिर मूल क्लाइंट को जवाब देता है जैसे कि वह स्वयं ही जवाब दे रहा था। इस तरह न तो clint को न ही सर्वर की जरूरत होती है सामने होने की यह सब प्रॉक्सी सर्वर संभाल लेता है ।


7 .Monitoring सर्वर (देखभाल सर्वर)

कुछ सर्वर अन्य सिस्टम और क्लाइंट की निगरानी या प्रबंधन के लिए बनाये गए हैं। मॉनिटरिंग सर्वर कई प्रकार के होते हैं। उनमें से कई नेटवर्क को सुनते हैं और प्रत्येक क्लाइंट अनुरोध और सर्वर प्रतिक्रिया प्राप्त करते हैं, लेकिन कुछ स्वयं डेटा का अनुरोध या प्रतिक्रिया नहीं देते हैं। इस तरह, मॉनिटरिंग सर्वर नेटवर्क पर सभी ट्रैफ़िक के साथ-साथ क्लाइंट और सर्वर के अनुरोधों और उत्तरों पर नज़र रख सकता है, उन कार्यों में हस्तक्षेप किए बिना। मॉनिटरिंग सर्वर के अनुरोधों का जवाब देगा

8 .फ़ाइल सर्वर


फ़ाइल सर्वर फ़ाइलों को सुरक्षित और बाटने का काम  करते हैं। एक से अधिक क्लाइंट या उपयोगकर्ता सर्वर पर संग्रहीत फ़ाइलें साझा कर सकते हैं। इसके अलावा, केंद्रीय रूप से संग्रहीत फ़ाइलें किसी संगठन में प्रत्येक डिवाइस पर फ़ाइलों के लिए सुरक्षा और अखंडता प्रदान करने के प्रयास की तुलना में आसान बैकअप या दोष सहिष्णुता समाधान प्रदान करती हैं। फ़ाइल सर्वर हार्डवेयर को प्रदर्शन में सुधार के लिए पढ़ने और लिखने की गति को ज्यादा करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

9. Print Server

प्रिंट सर्वर मुद्रण कार्य करने की छमता प्रबंधन और वितरण की अनुमति देते हैं। प्रत्येक वर्कस्टेशन पर एक प्रिंटर संलग्न करने के बजाय, एक एकल प्रिंट सर्वर कई क्लाइंट्स के प्रिंटिंग अनुरोधों का जवाब दे सकता है। आज, कुछ बड़े और उच्च-स्तरीय प्रिंटर अपने स्वयं के अंतर्निर्मित प्रिंट सर्वर के साथ आते हैं, जो एक अतिरिक्त कंप्यूटर-आधारित प्रिंट सर्वर की आवश्यकता को हटा देता है। यह आंतरिक प्रिंट सर्वर क्लाइंट से प्रिंट अनुरोधों का जवाब देकर भी कार्य करता है।

इसे भी पढ़े .





 सर्वर डाउन क्यों और कैसे होता है  Server Down meaning in hindi ? 

यदि आप Computer और इन्टरनेट का इस्तेमाल करते है और कई बार आपको सर्वर Not responding और सर्वर Faield का सामना जरूर करना पड़ा होगा आज हम आपको उसी के बारे में बताने जा रहे है की सर्वर डाउन क्यों होता है .

सर्वर डाउन होने के कई कारण हो सकते है जैसा की आपने देखा ही होगा की जब कभी वेबसाइट को ज्यदा लोग एक साथ इस्तेमाल करते है तब वह पर हमें वेबसाइट की गति धीमी मिलती है या फिर यदि उस वेबसाइट पर उसकी छमता से ज्यादा लोग हो जाते है तब वह वेबसाइट एकदम से काम करना बंद कर देती है तब हमें सर्वर Eroor या फिर सर्वर not responding का massage मिलता है .

एक सर्वर एक कंप्यूटर के ही तरह काम करता है जैसे यदि एक Computer में हम बहुत सारे सॉफ्टवेर को एक साथ प्रयोग करते है जब एक समय आता है की उसकी कार्य छमता से अधिक लोड उस पर आ जाता है वह धीमा हो जाता है और फिर काम करना बंद हो जाता है इसी तरह सर्वेर भी होते है  सर्वर ऑनलाइन एक कंप्यूटर डाटा है और एक हमारा Computer ऑफलाइन है जो हमरे पास रहता है और हम इसे खुद से कन्ट्रोल करते है .

अब तो आप समझ ही गए होंगे की सर्वर Down क्यों होता है 


निष्कर्ष :
 
आज हमने इस पोस्ट के माध्यम से आपको सर्वर क्या होता है और साथ ही web सर्वर कैसे क्या है कैसे काम करता है सर्वर कितने प्रकार के होते है इन सभी बातो को हमने आज Server क्या होता है इस पोस्ट के माध्यम से जाना आशा करता हूँ ये जानकारी आपको पसंद आई होगी यदि इस पोस्ट से सम्बंधित और कोई जानकारी आपको चाहिए आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते है हम आपको जल्द ही सम्पर्क करेंगे हमरी वेबसाइट Technicradar पर आने के लिए आपका धन्यवाद .



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ